धनबाद खान सुरक्षा महानिदेशालय ने मनाया 119 वां स्थापना दिवस

IMG-20200107-WA0044

धनबाद/संवाददाता: भारतीय खान अधिनियम 1901 के प्रावधानों के लागू करने के लिए भारत सरकार ने 7 जनवरी 1902 को कोलकाता में मुख्यालय के साथ खान निरीक्षण की स्थापना की थी। संगठन के नाम 1904 में खान विभाग में बदल दिया गया। मुख्यालय 1908 में धनबाद में स्थानांतरित कर दिया गया। 1जनवरी 1960 को संगठन का नाम खान के मुख्य निरीक्षक के कार्यालय के रूप में बदल दिया गया। 1 मई 1967 के बाद से कार्यालय खान सुरक्षा महानिदेशालय (DGMS) के रूप में फिर से नामित किया गया।

इसी उपलक्ष में खान सुरक्षा महानिदेशालय 7 जनवरी को अपना 199वां स्थापना दिवस मनाया। समारोह के दौरान इस शताब्दी पुराने संगठन की यात्रा और उपलब्धियों का एक प्रस्तुति के माध्यम से दर्शाया गया। कर्मचारी संगठनों और अधिकारियों के प्रतिनिधियों द्वारा संगठन के लिए आने वाले वर्षों में आगे बढ़ने के लिए भविष्य की चुनौतियां और आगे की रास्ता इस विषय पर विचार विमर्श किया। समारोह की अध्यक्षता खान सुरक्षा महानिदेशक आर सुब्रमनियम  तथा कार्यक्रम के मुख्य अतिथि  राजीव शेखर निदेशक IITआईएसएम, डी के साहू उप महानिदेशक सेंट्रल जोन, के एस यादव उप महानिदेशक इलेक्ट्रिकल, स्नेहलता सेठी उप महानिदेशक ने की। समारोह के दौरान संगठन के सभी कर्मचारी व अधिकारी भी मौजूद रहे।

खान सुरक्षा महानिदेशक आर सुब्रमनियन ने मीडिया से कहा की ये सरकारी संस्था है जो बड़ी उपलब्धि 119वां में साल कदम रख रही है। ये भारत में शायद ही कोई ऐसी संस्था है जो 100 वर्ष पार अपनी स्थापना मना रही है ये साबित होती है की ये समाज के प्रति कितनी समर्पित है। सभी कर्मचारी एक जगह और एकजुट होकर खान सुरक्षा महानिदेशक का स्थापना दिवस मना रहे है। नए कर्मचारी जो भी है उन्हें खदान में सेफ्टी पहनकर काम करना चाहिए। कोई भी व्यक्ति कही से इन्वेस्टमेंट ला सकता है मगर सेफ्टी की बिना कल्पना ही नही की जा सकता है। सभी के साथ मिलकर ईमानदारी से काम करे।