झारखंड शिक्षा परियोजना के आदेशों का पालन नहीं कर रहे जिला कर्मी

This slideshow requires JavaScript.

साहेबगंज/झारखंड: झारखंड शिक्षा परियोजना के आदेशों का अनुपालन साहेबगंज जिले में नहीं होता दिख रहा है। जिले में संचालित कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय में जमे शिक्षक, शिक्षिका व लेखापालों का स्थानांतरण राज्य परिजोयना निदेशक के आदेशानुसार नहीं किया जा रहा है, जिस कारण जुलाई 2016 में पदस्थापित सभी लेखा पाल अब भी उसी कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय में जमे हुए हैं। जबकि तत्कालीन राज्य परियोजना निदेशक राजेश्वरी बी द्वारा जून 2016 में निर्गत चिट्ठी के अनुसार कस्तूरबा विद्यालय के लेखा पालों का स्थानांतरण 3 वर्ष में किया जाना था।

इसके अलावे विद्यालय के शिक्षक-शिक्षिकाओं की लगातार मिल रही शिकायत पर राज्य महिला आयोग की कल्याणी शरण ने तीन वर्ष से ज़्यादा समय से पदस्थापित शिक्षक-शिक्षिकाओं का स्थानांतरण दूसरे कस्तूरबा विद्यालय में करने की मांग को लेकर अक्टूबर 2018 में सभी जिले के उपायुक्तों को चिट्ठी जारी की थी। इसी के आलोक में पुनः राज्य परियोजना निदेशक उमा शंकर सिंह ने 3 वर्ष से अधिक समय से पदस्थापित शिक्षकों का स्थानांतरण करने हेतु पत्र जारी किया था। बावजूद इसके जिले के लगभग सभी कस्तूरबा विद्यालयों में शिक्षक, शिक्षिकाएं व लेखा पाल लंबे समय से उसी विद्यालय में जमे हुए हैं। ऐसा प्रतीत होता है मानो जिला शिक्षा विभाग ने उच्च अधिकारियों के आदेशों को ताक पर रख दिया हो।

क्या कहते हैं जिला शिक्षा पदाधिकारी?
जिला शिक्षा पदाधिकारी अर्जुन प्रसाद ने बताया की स्थानांतरण को लेकर प्रक्रिया जारी है, जल्द इस पर पहल की जाएगी।