आपातकालीन स्थिति में सेवानिवृत्त डॉक्टर्स भी देंगे अपना सहयोग

IMG-20200403-WA0063
● स्वास्थ्य विभाग द्वारा कार्यशाला का आयोजन
 
साहिबगंज/संवाददाता: कोरोना वायरस संक्रमण से निपटने के लिए जिला प्रशासन द्वारा समाहरणालय स्थित सभागार में निजी संस्थानों के चिकित्सक तथा सेवानिवृत चिकित्सकों को प्रशिक्षण हेतु कार्यशाला में आयोजन किया गया। प्रशिक्षण का मुख्य उद्देश्य आपातकालीन स्थिति में चिकित्सा अधिकारी, द्वारा मदद लेना था।
कार्यशाला में एक्सपर्ट डॉक्टर्स द्वारा वायरस को लेकर विस्तार से जानकारी दी गई। इसके तहत बीमारी के पहचान, बीमारी के दौरान इलाज में डाक्टरों व मरीजों द्वारा बरती जाने वाली सावधानियों के अलावा वायरस दूसरों को न फैले इस संबंध में बताया गया। फिलहाल जिले में इस तरह का कोई मरीज सामने नहीं आया है।
ज्ञात हो कि कोरोना वायरस को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) एवं भारत सरकार द्वारा अलर्ट जारी करने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने जिले के सभी,अस्पतालों, कॉलेजों में अलर्ट के लिए निर्देश जारी किया है।
कार्यशाला में बताया गया कि स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना वायरस से बचने के लिए दिशा-निर्देश जारी किए हैं। इन निर्देशों के अनुसार हर व्यक्ति अपने हाथ साबुन-पानी या अल्कोहल युक्त हैंड रब से साफ करें।
खांसते या छींकते हुए अपनी नाक और मुंह को टिश्यू या मुड़ी हुई कोहनी से ढकें। जिन्हें सर्दी या फ्लू जैसे लक्षण हों उनके साथ करीबी संपर्क बनाने से बचें।
मीट व अंडों को खाने से पहले अच्छे से पकाएं। जंगली और खेतों में रहने वाले जानवरों के साथ असुरक्षित संपर्क न बनाएं।
भीड़भाड़ वाली जगह पर न जाएं, खास तौर पर चीन से सफर कर लौटे व्यक्ति से दूर रहें। सब्जी और फलों को खाने से पहले अच्छी तरह धोएं।
जिन देशों या जगहों पर इस बीमारी का प्रकोप फैला है, वहां यात्रा करने से बचें। सार्वजनिक स्थानों, सार्वजनिक यातायात के साधनों में कुछ भी छूने या किसी से हाथ मिलाने से बचें।