राज्य में कोई भूखा न सोये इस लिए सरकार प्रतिबद्ध

राज्य में कोई भूखा न सोये इस लिए सरकार प्रतिबद्ध

रांची/संवाददाता: राज्य में कोई भूखा न सोये इस लिए सरकार प्रतिबद्ध है। खाद्य सार्वजनिक वितरण एवं उपभोक्ता मामले विभाग द्वारा अप्रैल का शत प्रतिशत एवं मई का 78. 16% अनाज उपलब्ध करा दिया गया है। 1,09,552 लोगों तक विभाग द्वारा अनाज पहुंचा दिया गया है वहीं नन पीडीएस के तहत 1,12,816 लोगों तक अनाज उपलब्ध करा दिया गया है। दाल भात के विभिन्न योजनाओं में अब तक 17,92,356 लोगों को खाना खिलाया जा चुका है। विभाग द्वारा 29,207 लोगों तक विशेष राहत सामग्री के पैकेट पहुचाये गए हैं। एनजीओ एवं वोलेंटियर के 771 टीम द्वारा 8,96,604 लोगों को खाना खिलाया जा चुका है। वहीं प्रवासी मजदूरों के लिए 587 राहत कैम्प में 83,810 मजदूरों को खाना खिलाया जा रहा है।

स्वास्थ्य विभाग द्वारा अधिक से अधिक संदिग्ध व्यक्तियों की पहचान की जा रही है एवं उनका कोविड-19 हेतु टेस्ट किया जा रहा है। इस क्रम में अभी तक 1239 लोगों के सैंपल को टेस्ट किया गया जिसमें 4 लोग पॉजिटिव पाए गए एवं 1033 लोग नेगेटिव मिले हैं अभी भी 202 लोगों का टेस्ट प्रतीक्षा में है।   कोरोना से बचाव के लिए राज्य में 3,769 क्वॉरेंटाइन सेंटर कार्य कर रहे हैं जिसमें 15,186 लोगों को क्वॉरेंटाइन किया जा रहा है। वही 1,31,942 लोग होम क्वॉरेंटाइन में रह रहे हैं । अभी तक 24,445 लोगों ने अपना क्वॉरेंटाइन पूरा कर लिया।

विभिन्न राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों से अब तक श्रम, रोजगार एवं प्रशिक्षण विभाग के हेल्पलाइन नम्बर पर 21,065 कॉल्स के माध्यम से 7,38,881 झारखंड के लोगों के फसे होने की सूचना राज्य सरकार को प्राप्त हुई।  जिनके लिए खाने  एवं रहने का बंदोबस्त कर दिया गया है।