बीआरओ ने सामरिक महत्व के श्रीनगर-लेह राजमार्ग को चार महीने बाद खोला

This slideshow requires JavaScript.

श्रीनगर/पीआईबी: सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) ने शनिवार को लद्दाख को दुनिया के बाकी हिस्सों से जोड़ने वाले सामरिक महत्व के श्रीनगर-लेह राजमार्ग को खोल दिया। शुरुआत में ज़ोजिला दर्रे से करीब तेल के 18 टैंकरों और अन्य आवश्यक वस्तुओं को लेह/लद्दाख की ओर जाने की अनुमति दी गई। ज़ोजिला दर्रे में ताजा बर्फबारी के पश्चात् भी राजमार्ग को खोलने का प्रबंध किया गया।

ज़ोजिला दर्रे पर भारी बर्फबारी के कारण पिछले साल दिसंबर में 425 किलोमीटर राजमार्ग को बंद कर दिया गया था। लद्दाख मंडल आयुक्त के निर्देशानुसार केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख में आवश्यक वस्तुओं के संचय की आकस्मिक आवश्यकता थी। इसे ध्यान में रखते हुए परियोजना बीकन और परियोजना विजयक की टीम ने 11,500 फीट की ऊंचाई पर ज़ोजिला के आसपास ताजा बर्फ को राजमार्ग से हटाकर सड़क को यातायात के योग्य बना दिया।

इस साल की बर्फबारी ने पिछले छह दशकों के रिकॉर्ड तोड़ दिया। बीआरओ के प्रोजेक्ट बीकन द्वारा गगनगीर से जीरो प्वाइंट तक बर्फ को हटाने का काम किया गया और यही काम प्रोजेक्ट विजयक  ने दूसरी ओर द्रास की तरफ से किया।