सिद्धो-कान्हू जयंती के अवसर पर डीसी व एसपी ने किया माल्यार्पण

सिद्धो-कान्हू जयंती के अवसर पर डीसी व एसपी ने किया माल्यार्पण

साहिबगंज/संवाददाता: पूरे देश भर में ग्यारह अप्रैल की तारीख को सिद्धो-कान्हू जयंती के रूप में याद रखी जाती है। झारखंड के वीर सिद्धो-कान्हू ने राज्य के आदिवासी तथा गैर आदिवासियों को अंग्रेज व महाजनों के अत्याचार से आजाद करने में अहम भूमिका निभाई है। राज्य में अंग्रेजों की हुकूमत की जंजीरों को तार-तार करने वाले इन वीर सपूतों के शहादत की याद में जयंती समारोह प्रत्येक साल 11 अप्रैल को मनाया जाता है। परंतु वर्तमान में उत्पन्न महामारी कोरोना वाइरस संकट से इस वर्ष लॉक डाउन है एवं आदिवासी बहुमूल क्षेत्र के ग्रामीणों को भी जयंती मनाने का अवसर नही मिल पा रहा है।

जिले के उपायुक्त वरुण रंजन तथा पुलिस अधीक्षक अमन कुमार ने सिद्धो-कान्हू के गांव बरहेट का भ्रमण करते हुए सिद्धो-कान्हू वीर जन्मभूमि पर स्थित पार्क का निरीक्षण किया तथा उन्होंने वहां सिद्धो-कान्हू की प्रतिमा पर माल्यार्पण करते हुए उनकी शहादत को नमन किया।

उपायुक्त वरुण रंजन तथा पुलिस अधीक्षक अमन कुमार ने आस पास के ग्रामीणों से भी उनकी जरूरतें जानी तथा चूड़ा, गुड़, चना आदि का वितरण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने लॉकडाउन में ग्रामीणों की स्थिती जानी तथा उनकी समस्याएं सुनी। उपायुक्त ने ग्रामीणों से राशन की पहुँच तथा उपलब्धता के बारे में जानकारी ली तथा कोरोना वायरस संक्रमण से संबंधित सवाल भी किये। उन्होंने ग्रामीणों से सोशल डिस्टेंसिंग बनाये रखने और मास्क लगाने की अपील कर ग्रामीणों के बीच मास्क वितरण किया, साथ ही उपायुक्त वरुण रंजन ने सभी ग्रामीणों को कोरोना वायरस से बचाव के लिए जागरूक किया।