नक्सलियों से मुठभेड़ में शहीद साहिबगंज के लाल मुन्ना यादव का पार्थिव शरीर पहुंचा पैतृक आवास

 

This slideshow requires JavaScript.

संवाददाता: प्रेम कुमार

साहिबगंज/संवाददाता: छत्तीसगढ़ के बीजापुर, उड़ीपाल जंगल क्षेत्र में हुई उग्रवादी घटना में शहीद स्वर्गीय मुन्ना यादव का पार्थिव शरीर हेलीकाप्टर के माध्यम से मंगलवार को साहिबगंज मुख्यालय स्थित जैप-9 ग्राउंड में उतारा गया। यहां शहिद के पार्थिव शरीर को सीआरपीएफ के जवानों द्वारा गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। वहीं उपायुक्त वरुण रंजन, सीआरपीएफ डीजीपी, बोरियो विधायक लोबिन हेम्ब्रम, विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा, राजमहल विधायक अनंत ओझा, एसपी अनुरंजन किस्पोट्टा, उप विकास आयुक्त मनोहर मराण्डी, अनुमंडल पदाधिकारी राजमहल कर्ण सत्यार्थी, साहिबगंज अनुमंडल पदाधिकारी पंकज साव तथा जिले के वरिय पदाधिकारियों ने शहिद के पार्थिव शरीर पर माल्यार्पण किया एवं नम आंखों से श्रद्धांजलि दी।

फिर उनके पार्थिव शरीर को उनके पैतृक आवास महादेवगंज ले जाया गया। पार्थिव शरीर को देखने के लिए पूरा गांव उमड़ पड़ा, पार्थिव शरीर को देखते ही सभी की आंखें नम हो गई। उनकी मां गीता देवी, पत्नी और बहन के आंखों से आंसू रुकने का नाम नहीं के रहे थे। उपायुक्त वरुण रंजन महादेवगंज स्थित शहिद के निवास स्थान पहुंचे और शहीद के चित्र पर पुष्प अर्पित कर शोक संतप्त परिजन पिता से मुलाकात कर उन्हें ढाढ़स बंधाया। साथ ही शहीद की माता, उनकी पत्नी व बहन को भी ढाढ़स बंधाया। उपायुक्त ने कहा कि शहीद मुन्ना यादव देश की रक्षा के लिए शहीद हुए और हमसब उनकी शहादत को नमन करते हैं। उन्होंने कहा कि इस दु:ख की घड़ी में हम और सरकार शहीद के परिजनों के साथ है।

वहीं बताते चले की छत्तीसगढ़ के बीजापुर में सोमवार को नक्सलियों से मुठभेड़ के दौरान मुन्ना यादव शहीद हो गए थे। शहीद जवान मुन्ना यादव (30) साहिबगंज मुफस्सिल थाना क्षेत्र के महादेवगंज के भुवनेश्वर प्रसाद यादव के पुत्र हैं। मुन्ना यादव वर्ष 2011 में सीआरपीएफ में बहाल हुए थे। हंसमुख स्वभाव के मुन्ना होली की छुट्टी में घर आए थे और उनकी नसीहत थी कि हमेशा पुरे परिवार को साथ में रहना। सीआरपीएफ जवान मुन्ना यादव की शहादत की खबर सुन पूरा गांव गमजदा है।

बताया जाता है कि सीआरपीएफ व जिला रिजर्व गार्ड की टीम नक्सलियों की तलाश में वहां जुटी थी। उरीपाल जंगल में नक्सलियों से मुठभेड़ हो गई। मुठभेड़ में सीआरपीएफ की 170वीं बटालियन के जवान मुन्ना कुमार यादव शहीद हो गए।