विधायक व सामाजिक कार्यकर्ताओं के प्रयास से महाराष्ट्र में मजदूरों की घर वापसी

e0a4b5e0a4bfe0a4a7e0a4bee0a4afe0a495-e0a4b5-e0a4b8e0a4bee0a4aee0a4bee0a49ce0a4bfe0a495-e0a495e0a4bee0a4b0e0a58de0a4afe0a495e0a4b0e0a58de0a4a4e0a4bee0a493e0a482-e0a495e0a587-e0a4aae0a58d-1.jpeg

गोविंद कुमार । साहिबगंज: झारखंड के बाहर केरल, महाराष्ट्र, दिल्ली जैसे बड़े-बड़े शहरों में साहिबगंज जिले के हजारों मजदूर काम के लिए गए हुए थे और लॉकडाउन में फंस जाने के कारण घर वापस आने का कोई साधन नहीं था। केंद्र एवं झारखण्ड सरकार ने मजदूरों को अपने घर पहुंचाने के लिए कई स्पेशल ट्रेन चलवाया। जिससे सभी मजदूर अपने-अपने घर आ रहे हैं। साहिबगंज जिले के इन मजदूरों की समस्या को ले कर राज्य के नोडल पदाधिकारी से लेकर केन्द्र सरकार तक जिले के उपायुक्त के माध्यम से राजमहल विधायक अनन्त कुमार ओझा एवं सामाजिक कार्यकर्ता संतकुमार घोष ने लगातार मांग कर रहे थे कि जिले के फंसे मजदूर को वापस लाया जाए और सैकड़ों मजदूर शुक्रवार को ट्रेन से अपने घर लौट रहे हैं। उन सभी मजदूरों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, राजमहल विधायक अनंत कुमार ओझा एवं सामाजिक कार्यकर्ता संतकुमार घोष जी को धन्यवाद ज्ञापन किया।