उपायुक्त ने किया प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन

उपायुक्त ने किया प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन

साहिबगंज/संवाददाता: समाहरणालय स्थित सभागार में उपायुक्त वरुण रंजन की अध्यक्ष्ता में शुक्रवार को जिले से मज़दूरों को लेह लद्दाख भेजने की जानकारी से संबंधित प्रेस ब्रीफ़िंग की गई। उपायुक्त ने प्रेस एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया को संबोधित करते हुए कहा की जिले में बीआरओ द्वारा श्रमिकों की भर्ती की जा रही है। उन्होने बताया कि कामगारों के पास मौका है, की वह अपने देश की सेवा कर सकते हैं,तथा भारतीय सैनिकों के साथ कंधे से कंधा मिला कर कार्य कर सकते हैं। उपायुक्त श्री रंजन ने बताया कि बॉर्डर रोड आर्गेनाईजेशन भारत चीन सीमा पर सड़क निर्माण का कार्य करेगी,तथा इसके लिए वह कामगारों की भर्ती कर रही है। उन्होंने बताया कि जिले के कामगार भी श्रम विभाग से निबंधन करा सकतें हैं। तथा निबंधन की प्रक्रिया जिले में प्रारम्भ भी हो चुकी है। प्रेस कॉन्फ्रेंस में उपायुक्त वरुण रंजन ने बताया कि कामगारों को इसके लिए 15000 उनस्किलड श्रमिक तथा 18000 तक स्किल्ड श्रमिक को भुगतान किया जायेगा।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में उपायुक्त श्री रंजन ने बताया कि जिले में सभी मजदूरों का निबंधन किया जा रहा है. उनका एक डाटा बैंक तैयार हो रहा है। कौन-किस काम में हुनरमंद है, किसे प्रशिक्षण की जरूरत है. जिन्हें प्रशिक्षण की जरूरत है, उन्हें प्रशिक्षण भी दिलाया जायेगा। उपायुक्त ने बताया कि झारखंड सरकार तथा बीआरओ के बीच कामगारों को भेजने से पूर्व एमओयू ,मेमोरंडम ऑफ अंडरस्टैंडिंग भी होगा,एवं प्रशासन इसी आधार पर काम भी करेगी। प्रेस के ज़रिए उन्होंने जनता से अपील कि कामगारों को पैसा सीधे उनके अकॉउंट में डाला जाएगा अतः यह एक अच्छा अवसर है जब कामगार देश की सेवा कर सकते हैं तथा अगर कोई लेह लद्दाख में काम करना चाहते हैं तो वह अपना निबंधन श्रम विभाग से करा सकते हैं।तथा उन्हें श्रम विभाग की ओर से प्रवासी मज़दूरों को मिलने वाला लाभ भी दिया जाएगा। सबसे पहले कामगारों के स्वास्थ्य जांच किया जाएगा कि वह ऊंचाई पर कार्य करने में सक्षम हैं एवं उनका निबंधन किया जाएगा ताकि बाहर कार्य के दौरान उनका उतप्रिरण न हो। इसी क्रम में साहिबगंज जिले से 74 लोगों को दुमका पहुंचाया गया है, जो लद्दाख के लिए रवाना हुए।