कहीं व्यवसायी के साथ मारपीट हो रहा है तो कहीं अपहरण और हत्या: रेणुका मुर्मू

रेणुका मुर्मू, भाजपा नेत्री

  • सुरक्षा के नाम पर जनता को धोखा दे रही हेमंत सरकार: रेणुका मुर्मू

साहिबगंज/संवाददाता: बीते कुछ महीनों से लगातार सरकार और प्रशासन की नाकारी जनता के सामने आ रही है। अभी सिद्धो-कान्हू के वंसज की हत्या के बाद उनकी राख ठंडी भी नहीं हुई थी कि तब तक दूसरे घर मे मातम छा गया। यह कहना बिल्कुल गलत नहीं होगा कि यह सब सरकार और प्रशासन की लापरवाही के कारण हो रहा है। उक्त बातें भाजपा नेत्री रेणुका मुर्मू ने संवाददाता से बातचीत के दौरान कही।

बीते दिनों बोरियो के व्यवसायी अरुण साह के अपहरण के बाद हत्या मामले पर भाजपा नेत्री रेणुका मुर्मू ने अपनी चुप्पी तोड़ते हुए हेमंत सरकार और पुलिस प्रशासन को सीधे सीधे हत्या का जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने कहा है कि पुलिस को अपहरण की घटना का पता चलते ही सक्रिय हो जाना और एक बड़े अपराध के रूप में इस घटना को देखना चाहिए था। मृतक व्यवसायी के परिजनों के द्वारा लगातार जानकारी दी जाने के बाबजूद घटना को अंजाम तक पहुंचने से पुलिस नहीं रोक पाई। इससे साफ जाहिर होता है कि प्रशासन कितनी लापरवाही के साथ कदम उठा रही थी। इन सबसे कही ज्यादा शर्म की बात है कि राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन बरहेट विधानसभा से जीत कर रांची तक पहुंच तो गए हैं, लेकिन उनसे अपना विधानसभा एवं आसपास का क्षेत्र ही नहीं संभाला जा रहा तो राज्य की सुरक्षा पर तो सवाल उठना लाजमी है। सरकार को खुद इसकी जिम्मेदारी लेनी चाहिए। हेमंत सरकार के कार्यकाल में ना तो किसी क्रांतिकारी का वंसज सुरक्षित है और न ही व्यवसायी वर्ग के लोग। कहीं किसी व्यवसायी को उनके लोगों द्वारा दी जाती है तो कहीं किसी व्ययसायी की अपहरण के बाद हत्या हो जाती है। ऐसे में तो लोगों को सरकार से ही डर लगने लगा है। सबसे बड़ा सवाल ये उठता है कि सुरक्षा के नाम पर धोखा क्यों दे रही हेमंत सरकार?