जिले में मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से होगा अनुपालन: चितरंजन कुमार

  • जिला प्रशासन कोरोना महामारी से निपटने के लिए है तैयार: उपायुक्त
  • संभावित बाढ़ की स्थिति से भी निपटने को प्रशासन तैयार: चितरंजन कुमार

साहिबगंज/संवाददाता: समाहरणालय स्थित सभागार में उपायुक्त चितरंजन कुमार की अध्यक्ष्ता में मासिक प्रेस कॉन्फ्रेंस के आयोजन किया गया। उपायुक्त  चितरंजन कुमार ने प्रिंट एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया को संबोधित करते हुए कहा की कोरोना का प्रकोप बढ़ता जा रहा है, इसलिये लोगों को जागरूक रहने की आवश्यकता है। उन्होंने जिला प्रशासन की टीम का आभार प्रकट करते हुए कहा की जिले में कोरोना महामारी के फ़ैलाव को रोकने के लिए स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टर एवं कर्मी,पुलिस के जवान, सफायी कर्मी, सेविका-सहियाओं को धन्यवाद जिन्होंने इस पूरी प्रक्रिया मे जिला प्रशासन को अग्रणी कतार में खड़ा रखा है।

उपायुक्त श्री कुमार के अनुसार माह जुलाई 2020 के लिए अंत्योदय एवं पी एच एच के कुल 196192 राशनकार्ड धारियों को खाद्यान्न वितरण किया गया। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत कोविड-19 में इस योजना से अंत्योदय एवं पी एच एच कार्डधारी को प्रति सदस्य 5 किलोग्राम चावल का निशुल्क तथा 1 किलो ग्राम चना दाल प्रति माह अप्रैल से वितरित किया गया है। सरकार के निर्देशानुसार जुलाई 2020 से नवंबर 2020 के लिए भी अंत्योदय एवं पीएचएच कार्डधारी को प्रति सदस्य 5 किलोग्राम चावल का निशुल्क वितरण किया जाएगा। उपायुक्त श्री कुमार के अनुसार आत्मनिर्भर भारत योजना के तहत सुयोग्य प्रवासी श्रमिकों के लिए केंद्र सरकार द्वारा  मई एवं जून के लिए 10 किलोग्राम चावल एवं 2 किलोग्राम चना पीडीएस डीलर द्वारा वितरण किया जाना है इसके तहत साहिबगंज जिला को 94 50 क्विंटल चावल एवं 350 क्विंटल चना प्राप्त हुआ था अद्यतन सुयोग्य श्रेणी के 759 निबंधित प्रवासी श्रमिकों को निर्धारित मात्रा में चावल एवं चना का वितरण किया जा चुका है।

उपायुक्त श्री कुमार ने कहा कि वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए 15531 नए प्रधानमंत्री आवास निर्माण का लक्ष्य दिया गया है जिसके विरुद्ध 7215 का पंजीकरण, 5435 आवास स्थल का जियो टैग एवं 3224 आवास की स्वीकृति दी जा चुकी है। आवासों का पंजीकरण एवं जियो टैगिंग बढ़ाने का निर्देश प्रखंड विकास पदाधिकारियों को दे दिया गया है।वित्तीय वर्ष 2019-20 में 15887 का लक्ष्य था जिसमें से 6871 पूर्ण है शेष 9016 शीघ्र पूर्ण करने हेतु निर्देश दिया जा चुका है। उपायुक्त श्री कुमार ने कहा कि साहिबगंज जिला अंतर्गत कोविड-19 लॉकडाउन के दौरान आने वाले इच्छुक प्रवासी के कुल 26390 परिवारों को जॉब कार्ड निर्गत कर दिया गया है। जिसके अंतर्गत कुल 30427 श्रमिकों को मनरेगा का काम दिया गया है। सरकार की तीन महत्वपूर्ण योजनाओं यथा बिरसा हरित ग्राम वृक्षारोपण योजना, नीलाम्बर-पीताम्बर जल समृद्धि योजना और वीर शहीद पोटो हो खेल विकास योजना में प्राथमिकता के आधार पर प्रत्येक गांव के विभिन्न योजना प्रारंभ की गयी  है। उपायुक्त श्री कुमार ने कहा कि फिलहाल साहिबगंज जिले में दो कोविड केयर सेंटर कार्यरत हैं जो अनुमंडल अस्पताल राजमहल एवं राजकीय पॉलीटेक्निक कॉलेज लोहंडा में स्थित है। उनके अनुसार अभी तक साहिबगंज जिले में कंट्रोल रूम को 5471 शिकायतें प्राप्त हुई है जिनका निष्पादन कर दिया गया है।

साथ हीं जिले में 75 कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं जिसमें से 63 कंटेनमेंट जोन सक्रिय हैं तथा 12 कंटेनमेंट जोन बंद कर दिया गया है। वही जिले में चार चेकपोस्ट बनाए गए हैं जिसके द्वारा बाहरी राज्यों से आवाजाही पर निगरानी रखी जाती है। जिसमें से मिर्जाचौकी, बरारी, लोद पाड़ा, कोटलपोखर चेक नाका मौजूद हैं जिसमें अभी तक 24 चौबीसों घंटे मैजिस्ट्रेट की प्रतिनियुक्ति रहती है जो 3 शिफ्ट में कार्य करते हैं फिलहाल सभी चेक नाक में 12 मजिस्ट्रेट की प्रतिनियुक्ति की गई है। प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया गया कि वर्तमान में कोविड-19 के मद्देनजर विभिन्न काँटेन्मेंट ज़ोन में पुलिस तथा जैप के जवानों को प्रतिनियुक्त किया गया है। तथा चेकनाका पर पुलिस बल हर आवाजाही पर निगरानी रखी हुई है। साथ ही मास्क के उपयोग एवं सामाजिक दूरी के अनुपालन हेतु लगातार जाँच अभियान चलाया जा रहा है। प्रेस कॉन्फ्रेंस के दैरान उपायुक्त चितरंजन कुमार ने आम नागरिकों से कहा कि बाहरी राज्यों से आने वाले लोगों की सूचना प्रशासन को दें ताकि प्रशासन उनकी जाँच कराते कोरंटिन करा सके।

इस दौरान पुलिस अधीक्षक अनुरंजन किस्पोट्टा, उपविकास आयुक्त प्रभात कुमार बरदियार, अपर समाहर्ता अनुज कुमार प्रसाद, जिला आपूर्ति पदाधिकारी मिथिलेश कुमार झा, सीविल सर्जन डॉ डी एन सिंह, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी विकास कुमार हेम्ब्रम सहित विभिन्न मीडिया समूह के प्रतिनिधिगण उपस्थित थे।